1. Home
  2. आयु २५ , ये lesion १ साल से है! Itching present, बहुत दवाई की लेकीन लाभ नही huaa उचित मार्गदर्शन गुरुजी🙏🙏🙏

आयु २५ , ये lesion १ साल से है! Itching present, बहुत दवाई की लेकीन लाभ नही huaa उचित मार्गदर्शन गुरुजी🙏🙏🙏

DR. DP SINGH TREATMENT.                                                                                                                                                          खदिरारिष्ट सारिवादिरिष्ट को आपस में मिलाकर 25 ग्राम सुबह-शाम खाने के बाद दें।गंण्डोरिकदम् तैल लगाने से लाभ होगा।

साबुन या शैंपू का इस्तेमाल न करें मुल्तानी मिट्टी से सिर धोएं।                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                      

NOTE:-THIS INFORMATION IS ONLY FOR KNOWLEDGE PURPOSE.IF ANY PATIENT SUFFERING FROM THIS DISEASES CONTACT FROM DR. DP SIR. TO GIVE PROPER TREATMENT UNDER GUIDENCE.                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                          

3 Comments

  •  3 years ago

    This comment has been removed by the author.

  • रोगी की आयु 35 वर्ष है।
    रोगी संग्रहणी से पीड़ित है।
    चिकित्सा,,,
    सप्तामृत पर्पटी 3 रत्ती।
    सोंफ के फांन्ट से सुबह शाम सेवन कराएं।
    रोगी को लंघन करना चाहिए।
    केवल लावा का सत्तु खिलाएं।
    यह कार्य लगातार रोजना तीन सप्ताह तक करें।
    निश्चित रूप से लाभ होगा NOTE :-if you want more information then you can contact to DR. DP SIR (10AM to 2pm ,4pm to 8pm).phone no:-9319369184.

  •  3 years ago

    गुरु जी प्रणाम मैं रामवीर सिंह मेरी उम्र 37 वर्ष लंबाई 174 सेमी वजन 55 किलोग्राम है मैं पेट की समस्या से 12 साल से परेशान हूं गुरु जी मैं जब भी नाश्ता करता हूं या खाना खाता हूं तो उसके 5,7,10,15 मिनट के अंदर पेट में ऐंठन शुरू हो जाती है और वह हल्के हल्के बढ़ती जाती है लैट्रिन न जाऊं तो मेरे दिमाग में प्रेशर बढ़ता है और पसीना आता है जब लैट्रिन जाता हूं तभी चैन पड़ता है मल हर बार अधिकतर पतला कभी-कभी झाग और बिखरा हुआ आता है लैट्रिंन से आने के बाद शरीर के जोड़ों में दर्द होता है और ऐसा लगता है कि मैं दौड़कर आया हूं मेरा वजन बिल्कुल भी नहीं बढ़ रहा है गाल पूरी तरह पिचक गए हैं मैं सब कुछ( केवल शाकाहारी खाता हूँ) खा, पी भी नहीं पाता हूं इसके इलाज के लिए मैं बहुत रुपया बर्बाद कर चुका हूं कहीं से भी स्थायी लाभ नही मिला अब लगता है कि मैं ठीक ही नहीं हो पाऊंगा और ना ही सब कुछ खा, पी सकूंगा इसी दौरान 3 साल से मुझे दूसरी समस्या यह हो गई है कि जब भी मेरा पेशाब और वीर्य बाहर आता है तो सुई जैसी चुभन होती है मैने अपनी दोनों समस्या का हर एक पैथी में इलाज कराया है मेरी शादी शुदा जिंदगी डिस्टर्ब है गुरु जी अब आप ही से उम्मीद बची है कोई सरल व सस्ता नुस्खा बताएं परहेज अवश्य बताएं l गुरुजी

Leave a Reply